Friday, May 7th, 2021

जिला पंचायतों में भाजपा को भारी बढ़त, 918 प्रत्याशी जीते, 456 के नतीजे बाकी 

लखनऊ 
जिला पंचायत वार्डों के चुनाव में भाजपा को भारी बढ़त मिली है। अब तक घोषित 2008 सीटों में से भाजपा 918 सीटें जीत चुकी है, 456 सीटों पर भाजपा के प्रत्याशी निकटम प्रतिद्वंदी से आगे चल रहे हैं। चुनाव जीतने के साथ ही करीब 400 निर्दलीय भी भाजपा के संपर्क में हैं। इस भारी बढ़त से राज्य के अधिकांश जिलों में जिला पंचायत अध्यक्ष की सीट पर भाजपा की जीत आसान होती नजर आ रही है। इस जीत का श्रेय प्रदेश द्वारा गांव व ग्रामीणों के विकास के लिए किए जा रहे विकास कार्यों को माना जा रहा है। जिला पंचायत सदस्य चुनाव में विपक्षी दलों की सीटों को जोड़ा जाए तो भी प्रदेश की अन्य पार्टियां भाजपा के बराबर सीटें नहीं जीत पाई हैं। इस चुनाव में समाजवादी पार्टी और बीएसपी के कई दिग्गज नेताओं के सगे संबंधियों को हार का सामना करना पड़ा है। सपा के कद्दावर नेता और नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी के बेटे अपनी सीट नहीं बचा पाए।

अब तक के आए नतीजों के से प्रदेश की योगी सरकार को गांवों की सरकार का भरपूर समर्थन मिलता दिख रहा है। माना जा रहा था कि पश्चिम उत्तर प्रदेश में किसान आंदोलन के कारण पंचायत चुनाव में भाजपा को करारी हार मिलेगी, लेकिन यहां के चुनाव नतीजे बता रहे हैं कि भाजपा पर इस आंदोलन का कोई प्रभाव नहीं पड़ा है। लोगों ने बढ़चढ़ योगी सरकार का समर्थन किया है और गांवों में कमल को खिलाया है।

भाजपा ने जिला पंचायत की 3050 सीटों के पर उम्मीदवार उतारे थे। मतगणना के पहले दिन रविवार को ही भाजपा समर्थित 172 प्रत्याशी जीत दर्ज कर चुके थे। वहीं पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भाजपा समर्थित 44 जिला पंचायत सदस्य प्रत्याशी जीते हैं। अधिकांश चुने हुए प्रधान और बीडीसी सदस्य योगी सरकार में अपनी आस्था व्यक्त कर चुके हैं।

Source : Agency

आपकी राय

15 + 9 =

पाठको की राय