Thursday, May 6th, 2021

24 घंटे में तीन बार बदला आदेश, पहले की छुट्टी, फिर 50% उपस्थिति, अब पूर्व आदेश को किया यथावत

भोपाल
बरकतउल्ला विश्वविद्यालय (बीयू) में कोरोना संक्रमण काफी तेजी से फैल रहा है। कई कर्मचारी व अधिकारी पॉजीटिव हो गए हैं। इसको लेकर 24 घंटे के भीतर तीन बार आदेश बदले गए। रजिस्ट्रार डॉ. एचएस त्रिपाठी ने पहले 26 अप्रैल तक सभी विभागों को बंद करने का आदेश किया था, जिसमें अत्यावश्यक सेवाएं चालू रखने का उल्लेख था। लेकिन कुछ घंटे के अंदर ही कुलपति प्रो. आरजे राव के निर्देश पर दूसरा आदेश जारी हुए जिसमें 50 प्रतिशत स्टाफ के साथ कार्यालय खोलने को कहा गया। वहीं इस गलत आदेश का कर्मचारियों द्वारा विरोध करने पर एक बार फिर से पूर्व आदेश को यथावत कर दिया गया है।

ज्ञात हो कि भोपाल कलेक्टर अविनाश लावनिया ने भोपाल में 26 अप्रैल तक कोरोना कर्फ्यू लगाने के आदेश जारी किए गए हैं। रजिस्ट्रार त्रिपाठी ने इस आदेश के परिपालन में बीयू के सभी विभागों को 26 अप्रैल तक सिर्फ सुरक्षा, स्वास्थ्य, विद्युत, पेयजल, सीएम हेल्पलाइन, लेखा शाखा, साफ-सफाई, सेनेटाइजेशन, भंडार, यांत्रिकी, वाहन सेल चालक शाखा चालू रहेंगे।

कुलपति आरजे राव ने रजिस्ट्रार के आदेश को कुछ घंटों के अंदर ही पलटवा दिया। उनके अनुमोदन से रजिस्ट्रार त्रिपाठी को अपने आदेश का संशोधन जारी करना पड़ा। इसमें उन्होंने सभी अधिकारियों को पचास फीसदी के साथ उपस्थित होने के आदेश दिए। जबकि विभाग ने भी 25 फीसदी कर्मचारियों को रोटेशन में बुलाने के आदेश जारी कर रखे हैं। चूंकि विभाग के आदेश पूरे प्रदेश के लिए कॉमन होते हैं और कोरोना को लेकर कलेक्टर के आदेश स्थानीय स्तर पर मान्य होते हैं। कलेक्टर द्वारा 26 अप्रैल तक बंद करने के आदेश को जब समझाया गया तो फिर पहले वाले आदेश को यथावत रखने का एक और आदेश जारी किया गया। उल्लेखनीय है कि बीयू में कोरोना संक्रमण होने से करीब दो दर्जन कर्मचारी और अधिकारियों का स्वास्थ्य बिगड़ चुका है। यहां तक एक कर्मचारी के पुत्र का निधन कोरोना संक्रमित होने से हो गया है।

इनका कहना है
कोरोना की स्थिति राजधानी में ज्यादा खराब है, इसलिए कलेक्टर के आदेश के परिपालन में 26 अप्रैल तक कार्यालय बंद करने के आदेश दिए गए हैं। उच्च शिक्षा विभाग के आदेश प्रदेश भर के लिए हैं, जबकि कलेक्टर के आदेश स्थानीय परिस्थितियों के अनुसार जारी हुए हैं।
-डॉ.एचएस त्रिपाठी, रजिस्ट्रार, बीयू

 

संबंधित ख़बरें

आपकी राय

2 + 7 =

पाठको की राय